हेलो दोस्तों आज किस पोस्ट में मैं आपको पल्लवन की परिभाषा बताने वाला हूं अगर आप 10वीं या फिर 12वीं के स्टूडेंट है तो आपके हिंदी में पल्लवन क्या होता है यह क्वेश्चन जरूर आया होगा तो दोस्तों इस पोस्ट के द्वारा मैं आपको पल्लवन की परिभाषा बताने वाला हूं


पल्लवन का अर्थ पल्लवन से आशय किसी ऐसे वाक्य को विस्तार करना या बड़ा करना जिससे उसका भाव स्पष्ट हो जाए किसी सुगठी दिया शोक घोषित विचार है अथवा भाव को इस प्रकार विस्तार करना जिससे वह पूरा स्पष्ट हो जाए लोगों को यह चीज समझ में आ जाए



पल्लवन की परिभाषा 

पल्लवन की परिभाषा निम्नलिखित है

डॉ वासुदेव नंदन प्रसार के अनुसार :- किसी सुगठित एवं गुम्फित विचार अथवा भाव के विस्तार को पल्लवन कहते हैं

प्रोफेसर राजेंद्र प्रसाद सिंह के अनुसार पल्लवन का अर्थ होता है पल्लवन उत्पन्न करना अर्थात विषय का विस्तार करना

इस प्रकार कहा जा सकता है कि किसी ऐसे वाक्य का विस्तार करना जिससे उसका भाव स्पष्ट हो जाए उसे पल्लवन कहते हैं इसमें अनेक विद्वानों ने अपनी अलग-अलग परिभाषा दी है 



पल्लवन की विशेषताएं

स्पष्टता :- पल्लवन में प्रस्तुति भूतिया एकदम स्पष्ट होती है जो भी लोकोक्ति मुहावरे स्पष्ट भाषा में समझ नहीं आती वहां पल्लवन द्वारा समझ में आ जाते हैं

कल्पना :- फोन करते समय व्यक्ति अपनी बुद्धि से पूछ लो खटिया मुहावरे का पूरी कल्पना करता है ताकि वह स्पष्ट हो जाए और एक सफल ढंग से पल्लवन कर पाए

अध्ययन शीलता :- कोई भी व्यक्ति तो ही समझ सकता है अथवा व्याख्या कर सकते हैं जो वह खुद अध्ययन शील हो अध्ययन के आभाव में व्यक्ति को समझने को परेशानी होती है



भाषा :- पल्लवन की बहुत सारी स्पष्ट एवं सुबोध होती है पल्लवन लिखते समय हमें एकदम स्पष्ट भाषा का प्रयोग करना चाहिए

तो दोस्तों आज की इस पोस्ट में हमने आपको पल्लवन क्या होता है पल्लवन की विशेषताएं और पल्लवन की परिभाषाएं बताइए अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई तो हमें कमेंट में जरूर बताएं और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले

most important question

Post a Comment

और नया पुराने